एन ए आई, ब्यूरो।

ऊना, जिला ऊना के एक नशा निवारण केंद्र में हुई युवक की संदिग्ध मौत का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। मंगलवार सुबह मृतक युवक के परिजनों ने जिला मुख्यालय पहुंचकर इस मामले में ह्त्या की धाराओं के तहत मामला दर्ज करने की मांग को लेकर रोष रैली निकाली और एसपी कार्यालय के बाहर धरना प्रदर्शन भी किया।

गौरतलब है कि पिछले दिनों 27 वर्षीय युवक की संदिग्ध मौत हुई थी, मौत के बाद नशा निवारण केंद्र के संचालक युवक के शव को आधी रात को उसके घर छोड़ आए। जबकि युवक के परिजनों ने नशा निवारण केंद्र के मालिकों और कर्मचारियों पर उनके लाडले के साथ मारपीट करने का आरोप जड़ा और पुलिस के पास तहरीर सौंपी।

परिजनों की शिकायत के आधार पर पुलिस ने अमित के शव का पोस्टमार्टम कराया और पोस्टमार्टम की रिपोर्ट के खुलासे चौकाने वाले रहे। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में स्पष्ट लिखा था कि अमित की मौत सिर में गहरी चोट लगने के कारण हुई है, जबकि नशा निवारण केंद्र के संचालकों द्वारा मृतक के परिजनों को उसकी मौत का कारण दौरा पड़ना बताया गया था। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद पुलिस ने आनन-फानन में तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया जो उस रात शव छोड़ने उसके घर पहुंचे थे। अमित के परिजनों का आरोप है कि पुलिस को इस मामले में सीधे तौर पर हत्या का मामला दर्ज करते हुए धारा 302 के तहत कार्रवाई अमल में लानी चाहिए।

जतिंद्र कुमार (मृतक का रिश्तेदार)

मृतक युवक के परिजनों के साथ धरना प्रदर्शन में पहुंचे गगरेट ब्लॉक युवा कांग्रेस के अध्यक्ष अमन ने जिला प्रशासन और पुलिस को अल्टीमेटम देते हुए कहा कि यदि पुलिस ने इस मामले में हत्या का केस दर्ज न किया, तो हजारों की संख्या में ग्रामीणों को जिला मुख्यालय पहुंचकर चक्का जाम करने पर मजबूर होना पड़ेगा।

अमन कुमार (ब्लॉक अध्यक्ष, युवा कांग्रेस गगरेेट)

Share:

editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *