एन ए आई ब्यूरो।

शिमला,दुनिया भर में आज विकलांग दिवस मनाया जा रहा है।लेकिन राजधानी शिमला में राष्टीय दृष्टिहीन संघ  इस दिवस को काले दिवस के रूप में मना रहे है और शिमला में प्रदेश भर के दृष्टिबाधितों ने उपायुक्त कार्यालय के बाहर मांगो को लेकर धरना प्रदर्शन किया और सरकार के खिलाफ जम कर नारेबाजी ।

दृष्टिहीन संघ ने सरकार पर दृष्टिबाधितों की अनदेखी के आरोप लगाए और मांगे पूरी न करने पर भूख हड़ताल शुरू करने की चेतावानी भी दी है।

राष्टीय दृष्टिहीन संघ के सचिव सतीश कुमार ने कहा कि
संघ लंबे समय से सरकार से बैकलॉग भरने के साथ अन्य मांगे रखता आ रहा है लेकिन सरकार उस ओर कोई ध्यान नही दे रही है। आज विश्व विकलांग दिवस है ओर इसे काले दिवस के रूप में मनाया जा रहा है ।

उन्होंने कहा बैकलॉग को भरना ,सुंदर नगर ओर ढली  स्कूल को आधुनिक बनाया जाए   ताकि दृष्टिबाधित भी अच्छी शिक्षा प्राप्त कर सके। इसके अलावा सेवानिवृत्त सीमा 58 से बढ़ा कर 60 करने और बेरोजगारी भत्ता बढ़ने की मांग काफी समय से की जा रही है । इन मांगों को लेकर सरकार के समक्ष वार्ता हुई थी 6 अक्तूबर का समय दिया गया था  उसके बाद आचार सहिंता लागू हो गई थी लेकिन सरकार ने संघ को वार्ता के लिए नही बुलाया गया और अब सरकार उनकी मांगे जल्द नही मानती तो दृष्टिबाधित सड़को पर उतर कर उग्र प्रदर्शन करेंगे और भूख हड़ताल शुरू की जाएगी ओर आमरण अनशन पर बैठने से भी पीछे नही हटेंगे।

Share:

editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *