एन ए आई ब्यूरो।

ऊना, राष्ट्रीय बालिका दिवस के उपलक्ष्य में सोमवार को जिला मुख्यालय के जिला परिषद सभागार में कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस मौके पर बतौर मुख्य अतिथि शिरकत कर रहे वित्त आयोग के अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती ने जहां बेटियों को सम्मानित किया वहीं बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान के सफल क्रियान्वयन के लिए विभाग और प्रशासन की पीठ भी थपथपाई। इस मौके पर वित्त आयोग के अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती ने कहा कि जिला में शून्य से 6 वर्ष तक के बच्चों का लिंग अनुपात बुरी तरह गड़बड़ा गया था। जिला में प्रति एक हजार बालकों के मुकाबले 875 बालिकाएं दर्ज की जाती थी। इसी आंकड़े के चलते देवभूमि का यह जिला देश भर के उन 100 जिलों में शुमार हो चुका था, जहां लिंग अनुपात में भारी अंतर दर्ज किया जा रहा था। जिसके बाद सरकार और प्रशासन के संयुक्त प्रयासों के चलते बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान को गति प्रदान की गई और वर्तमान में जिला के लिंग अनुपात के आंकड़े काफी सुधरे हैं। जिनमें प्रति 1000 बालकों के मुकाबले 938 बालिकाएं दर्ज की जा रही हैं। उन्होंने कहा कि आज बेटियां बेटों के मुकाबले किसी भी क्षेत्र में कम नहीं आंकी जा सकती। समाज को अपनी सोच बदलने की जरूरत है बेटियों को प्रोत्साहित करने के लिए वर्तमान समय में सरकार भी हर संभव मदद उपलब्ध करा रही है।

Share:

editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *