एन ए आई, ब्यूरो।

उना, हिमाचल रीजनल अलायंस के अध्यक्ष डॉ राजन सुशांत ने ऊना में पत्रकारवार्ता को संबोधित करते हुए कांग्रेस और भाजपा के खिलाफ मोर्चा खोला। पूर्व सांसद डॉ राजन सुशांत ने कहा कि हाल ही में पंजाब में सामने आए विधानसभा चुनाव के नतीजे कांग्रेस और भाजपा के खात्मे की शुरुआत है। उन्होंने कहा कि प्रदेश की विधानसभा में भाजपा और कांग्रेस के नेता मिल बैठकर अपनी सुख-सुविधाओं पर फोकस कर रहे हैं। जबकि प्रदेश के लाखों कर्मचारी पेंशन के लिए धरना प्रदर्शन पर उतारू है, पेंशन बंद होने के चलते इन कर्मचारियों को अपना भविष्य अंधकार में नजर आ रहा है। फिर भी प्रदेश के तमाम विधायक अपनी सुख-सुविधाओं को बढ़ाने में लगे हुए हैं।

उन्होंने कांग्रेस और भाजपा के मुकाबले हिमाचल प्रदेश में भी तीसरे विकल्प को ही सही बताया है। वहीं उन्होंने कांग्रेस और भाजपा को पटखनी देने के लिए आम आदमी पार्टी के साथ गठबंधन के बीच सभी विकल्प खुले रखे हैं। उन्होंने कहा कि वर्तमान परिस्थितियों में आम आदमी पार्टी और हिमाचल रीजनल एलाइंस का एक ही उद्देश्य है। इन परिस्थितियों में यदि दोनों विधानसभा चुनाव में एक साथ आकर मुकाबला करते हैं तो कांग्रेस और भाजपा को मात देना और भी आसान रहेगा। बुधवार को ऊना जिला मुख्यालय पहुंचे डॉ राजन सुशांत ने प्रेस वार्ता करते हुए प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के साथ-साथ कांग्रेस नेताओं को भी जमकर आड़े हाथों लिया। इतना ही नहीं उन्होंने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर द्वारा कर्मचारियों को लेकर की गई टिप्पणी के चलते जयराम की तुलना रावण से भी कर डाली और उन्हें सच्चाई से पूरी तरह अनभिज्ञ मुख्यमंत्री करार दिया।

डॉ राजन सुशांत ने आरोप जड़ा है कि प्रदेश की भाजपा सरकार विपक्षी दल कांग्रेस से मिलीभगत करते हुए अपनी सुख सुविधाएं बढ़ाने पर जोर दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर हिमाचल परिवार के मुखिया हैं। लेकिन यदि परिवार में कोई भूखा मर रहा हो या किसी को दवाई की जरूरत हो तो इन परिस्थितियों में मुखिया अपनी सुख-सुविधा कभी नहीं देखता। लेकिन मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर माननीयों की सुख-सुविधाओं, वेतन-भत्तों और ऐश परस्ती के लिए हर संभव प्रयास करते नजर आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश के लाखों कर्मचारी ओल्ड पेंशन स्कीम के लिए संघर्ष कर रहे हैं उन्हें अपना भविष्य अंधकार में नजर आ रहा है वहीं दूसरी तरफ भाजपा और कांग्रेस फ्रेंडली मैच खेलते हुए अपनी सुख-सुविधाओं पर फोकस कर रहे हैं।

राजन सुशांत ने ऐलान किया है कि आने वाले विधानसभा चुनाव में 70 फ़ीसदी टिकट युवाओं और महिलाओं को दिए जाएंगे। वहीं कर्मचारियों के लिए भी 10 फ़ीसदी टिकट का कोटा रखा गया है। उन्होंने कहा हो सकता है कि आने वाले विधानसभा चुनाव के बाद प्रदेश के हित में लिए जाने वाले तमाम फैसले कर्मचारी ही करते नजर आएं।

Share:

editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

AllEscort