एन ए आई, ब्यूरो।

शिमला, मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज होटल पीटरहॉफ शिमला मेें हिमाचल प्रदेश पर्यटन विकास निगम (एचपीटीडीसी) के 50वें स्थापना समारोह की अध्यक्षता की। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार एचपीटीडीसी के कर्मचारियों के लिए छठे वेतन आयोग की सिफारिशें लागू करने पर सहानुभूतिपूर्वक विचार करेगी और निदेशक मंडल की बैठक में इस मुद्दे को लाया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्ष 1972 में स्थापना के पश्चात से निगम ने सभी क्षेत्रों में अभूतपूर्व प्रगति की है। उन्होंने कहा कि निगम इन 50 वर्षों के दौरान 165 कर्मचारियों के साथ 11 होटलों से शुरूआत कर वर्तमान में निगम के 54 होटलों व 2000 कर्मचारियों तक पहंुचा है। उन्होंने कहा कि वर्तमान प्रदेश सरकार ने अपने कार्यकाल के दौरान निगम को व्यावसायिक रूप प्रदान करने के लिए कई पहल की हैं।

जय राम ठाकुर ने कहा कि प्रदेश सरकार ने पर्यटन के अनछुए गंतव्यों में पर्यटन गतिविधियों को प्रोत्साहन प्रदान करने के लिए कई योजनाएं शुरू की हैं। उन्होंने कहा कि इस दिशा में नई राहेें नई मंजिलें एक महत्वकांक्षी योजना है। वर्तमान प्रदेश सरकार ने इस योजना के अन्तर्गत राज्य में पर्यटन गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए 250 करोड़ रुपये स्वीकृत किए हैं। उन्होंने कहा कि नई राहेें नई मंजिलें योजना के अन्तर्गत हिमाचल प्रदेश पर्यटन विकास निगम द्वारा जिला मंडी के कांगनीधार में महत्वकांक्षी परियोजना शिवधाम के प्रथम चरण का क्रियान्वयन किया जा रहा है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में यात्रा को और सुगम बनाने के उद्देश्य से शिमला, बद्दी, रामपुर, मंडी और मनाली में पांच हेलीपोर्ट का निर्माण किया गया है। उन्होंने कहा कि चंडीगढ़ से शिमला के अतिरिक्त शिमला से रामपुर, मंडी और धर्मशाला आदि के लिए भी हेली टैक्सी सेवा शुरू की गई है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि मंडी में नए हवाई अड्डे की विस्तृत परियोजना रिपोर्ट (डीपीआर) अंतिम चरण में है। उन्होंने कहा कि स्वदेश दर्शन परियोजना के तहत भलेई में कला एवं संस्कृति केंद्र, मनाली में कृत्रिम आरोहण दीवार, कांगड़ा में ग्रामीण हाट, शिमला में हैलीपोर्ट और हाटकोटी माता मंदिर के सौंदर्यीकरण का कार्य पूरा कर लिया गया है। जबकि, क्यारीघाट में सम्मेलन केंद्र (कनवेन्शन) सेंटर तथा बीड़-बिलिंग में पैराग्लाइडिंग केंद्र का निर्माण कार्य अंतिम चरण में है।

जय राम ठाकुर ने कहा कि इस साल निगम ने अप्रैल, मई और जून माह में 11.84 करोड़ रुपये का लाभ अर्जित किया है। उन्होंने देश के प्रमुख शहरों में हिमाचल के दर्शनीय स्थलों के व्यापक प्रचार की आवश्यकता पर बल दिया ताकि हिमाचल प्रदेश की ओर अधिक से अधिक पर्यटकों को आकर्षित किया जा सके। निगम को नए जोश और पेशेवर ढंग से काम करना चाहिए, ताकि यह लाभ अर्जित करने वाला उपक्रम बन सके। उन्होंने कहा कि पर्यटकों को बेहतरीन एवं पेशेवर सेवाएं उपलब्ध करवाने के लिए निगम के कर्मचारियों को स्वयं को अपडेट रखना चाहिए तथा नियमित रूप से अपने कौशल का उन्नयन करना चाहिए। मुख्यमंत्री ने कोरोना महामारी के दौरान उत्कृष्ट सेवाओं के लिए निगम के कर्मचारियों की सराहना भी की।

निदेशक पर्यटन एवं प्रबंध निदेशक हिमाचल प्रदेश पर्यटन विकास निगम (एचपीटीडीसी) अमित कश्यप ने कहा कि निगम के अस्तित्व के पचास वर्षों की यात्रा शानदार रही है। उन्होंने कहा कि कोविड महामारी के दौरान एचपीटीडीसी को वित्तीय संकट का सामना करना पड़ा। उन्होंने कहा कि इस कठिन समय में राज्य सरकार ने निगम को इस स्थिति से बाहर निकालने के लिए पर्याप्त वित्तीय सहायता प्रदान की है। उन्होंने कहा कि एचपीटीडीसी ने हिमाचल प्रदेश में घरेलू और विदेशी पर्यटन को बढ़ावा देने में अग्रणी भूमिका निभाई है।

भारतीय मजदूर संघ के अध्यक्ष मदन राणा ने कहा कि मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर के नेतृत्व वाली वर्तमान राज्य सरकार ने यह सुनिश्चित किया है कि कर्मचारियों को उनके देय लाभ समय पर मिले और उन्होंने हमेशा कर्मचारियों के साथ सौहार्दपूर्ण संबंध बनाए रखा है।

हिमाचल प्रदेश पर्यटन विकास निगम के कर्मचारी फेडरेशन के अध्यक्ष धाबे राम चौहान ने इस अवसर पर मुख्यमंत्री और अन्य गणमान्य व्यक्तियों का स्वागत किया तथा मुख्यमंत्री से निगम के कर्मचारियों की उचित मांगों पर सहानुभूतिपर्वूक विचार करने का आग्रह किया। उन्होंने कोरोना महामारी के दौरान प्रदेश का सफलतापूर्वक मार्गदर्शन करने के लिए मुख्यमंत्री का आभार भी व्यक्त किया।

इस अवसर पर प्रधान सचिव पर्यटन देवेश कुमार, एचपीटीडीसी कर्मचारी महासंघ के महासचिव राज कुमार शर्मा, कार्यकारी अध्यक्ष राजीव सोनी, महासचिव यश पाल हेट्टा, भारतीय मजदूर संघ के पूर्व अध्यक्ष सुरेंद्र ठाकुर सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

Share:

editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *