एन ए आई, ब्यूरो।

मंडी, हिमाचल प्रदेश के अस्तित्व के 75 वर्ष पूर्ण होने के उपलक्ष्य में प्रगतिशील हिमाचलः स्थापना के 75 वर्ष समारोह के अन्तर्गत मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज मंडी जिला के नाचन विधानसभा क्षेत्र की ग्राम पंचायत कोट में बीबीएमबी मैदान में हजारों लोगों की उपस्थिति में लगभग 165 करोड़ रुपये लागत की 32 विकासात्मक परियोजनाओं के लोकार्पण और शिलान्यास किए।

जय राम ठाकुर ने ग्राम पंचायत सेरी में मोवीसेरी और आसपास के गांवों के लिए 3.72 करोड़ रुपये लागत की उठाऊ जलापूर्ति योजना, 1.48 करोड़ रुपये लागत की जलापूर्ति योजना डुगराई, कलश, कंधोले गांव, 94 लाख रुपये लागत के देवीदड़ पार्क, 82 लाख रुपये लागत की आध्यात्मिक वाटिका (मनरेगा पार्क) सकरिनी, कमरुनाग, बाडू में 17 लाख रुपये लागत के पशु औषधालय, जयोग में 17 लाख रुपये लागत के पशु औषधालय, 15.73 करोड़ रुपये लागत की जलापूर्ति योजना ग्राम पंचायत कनैड, भौर, डुगराई, छातर और जुगाहण, 2 करोड़ रुपये लागत की जलापूर्ति योजना जरल जुगाहण, एक करोड़ रुपये लागत की जलापूर्ति योजना कनैड़-1, 3.59 करोड़ रुपये लागत की नौण से छवाली सड़क, 2.39 करोड़ रुपये लागत की बुराहटा से काथला सड़क, 3.82 करोड़ रुपये लागत की ढ़ाबन तमरोह से चौंतड़ सड़क, 3.50 करोड़ रुपये लागत की स्यांह से ढ़ाबन सड़क, 2.36 करोड़ रुपये लागत की सेरी से जलाह सड़क, 18.66 करोड़ रुपये लागत की धनोटू से रोहान गलू सड़क और 7 करोड़ रुपये लागत की बाखली से खोलानाल सड़क का लोकार्पण किया।

मुख्यमंत्री ने गोहर में 1.35 करोड़ रुपये लागत से निर्मित होने वाले ई-किसान भवन, गुडारी में 18.29 करोड़ रुपये लागत के ग्रेडिंग और पैकिंग हाउस और सीए स्टोर (ग्रीन फील्ड प्रोजेक्ट), 2.65 करोड़ रुपये की लागत के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र स्यांज, 2.65 करोड़ रुपये की लागत के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र शिलणू, चैलचौक में 15 लाख रुपये की लागत के सामुदायिक केंद्र, शाला में 2.42 करोड़ रुपये की लागत की विज्ञान प्रयोगशाला, किलिंग में 2.35 करोड़ रुपये की लागत विज्ञान प्रयोगशाला, मोवी सेरी में 2.35 करोड़ रुपये लागत की विज्ञान प्रयोगशाला, देलग में 58 लाख रुपये की लागत के आयुर्वेदिक स्वास्थ्य केंद्र, छपराहन, में 58 लाख रुपये की लागत के आयुर्वेदिक स्वास्थ्य केंद्र, 25.99 करोड़ रुपये लागत से चैलचौक-बग्गी सड़क के उन्नयन कार्य, 6.93 करोड़ रुपये लागत से नैहरा फगोह सड़क की मेटलिंग और टारिंग कार्य, 4.80 करोड़ रुपये लागत के रखालगलू से जन्याणी सड़क की मेटलिंग और टारिंग कार्य, 8.10 करोड़ रुपये लागत से सेगली से बुरहाटा सड़क की मेटलिंग और टारिंग, 6.20 करोड़ रुपये लागत के कासन से बुरहाटा सड़क की मेटलिंग और टारिंग और 11.93 करोड़ रुपये लागत के चैली से शिलाणू सड़क के कार्य का शिलान्यास किया।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए 50 बिस्तरों वाले नागरिक अस्पताल गोहर को स्तरोन्नत कर 100 बिस्तरों वाला अस्पताल बनाने की घोषणा की। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र चौक को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में स्तरोन्नत करने, छात्तर में स्वास्थ्य उप केंद्र खोलने, हटगढ़ में आईटीआई खोलने, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला कुटाची में विज्ञान की कक्षाएं आरम्भ करने की घोषणा की। उन्होंने विधानसभा क्षेत्र में मुख्यमंत्री लोक भवन के लिए 15 लाख रुपये देने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि क्षेत्र में नये पटवार वृत भी खोले जाएंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के लोगों ने वर्तमान राज्य सरकार को हर संभव सहयोग प्रदान किया है। उन्होंने कहा कि वर्तमान राज्य सरकार ने इन पांच वर्षों के दौरान यह सुनिश्चित किया है कि सरकार की विकासात्मक नीतियों और कार्यक्रमों से समाज का हर वर्ग और हर क्षेत्र लाभान्वित हो।

जय राम ठाकुर ने कहा कि राज्य के अस्तित्व के 75 वर्ष पूरे होने के उपलक्ष्य में आयोजित समारोह कांग्रेस नेताओं को रास नहीं आ रहे है। उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश आज जहां खड़ा है, उसके योगदान के लिए राज्य के लोगों के प्रति आभार व्यक्त करने के लिए राज्य सरकार इस अवसर को मना रही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस एक डूबता हुआ जहाज है और कांग्रेस के अनेक नेता भाजपा के संपर्क में हैं, जो कभी भी भाजपा में शामिल हो सकते है। उन्होंने कहा कि जिस पार्टी के पास अपनी कोई गारंटी नहीं है, वह राज्य के लोगों को चुनावों के दृष्टिगत दस गारंटी दे रही है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हिमाचल प्रदेश ने विभिन्न क्षेत्रों में तेजी से प्रगति की है। उन्होंने कहा कि राज्य के गठन के समय केवल चार जिले थे जबकि आज 12 जिले हैं। उन्होंने कहा कि वर्ष 1948 में राज्य की साक्षरता दर 4.8 प्रतिशत थी जो अब बढ़कर 83 प्रतिशत हो गई है। उन्होंने कहा कि वर्ष 1948 में राज्य में केवल 228 किलोमीटर सड़कें थीं, जबकि आज प्रदेश में सड़कों की लम्बाई लगभग 40,000 किलोमीटर हो गई है। उन्होंने कहा कि इसका श्रेय पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को जाता है, जिन्होंने 60,000 करोड़ रुपये की प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना शुरू की तथा इस योजना के माध्यम से राज्य में लगभग 20,000 किलोमीटर सड़कों का निर्माण किया गया है।

जय राम ठाकुर ने कहा कि वर्तमान राज्य सरकार जरूरतमंदों को सामाजिक सुरक्षा पेंशन प्रदान करने पर वार्षिक 1300 करोड़ रुपये व्यय कर रही है जबकि पिछली राज्य सरकार द्वारा इस पर मात्र 400 करोड़ रुपये व्यय किए गए। उन्होंने कहा कि इन वर्षों में वर्तमान सरकार का ध्येय ‘गरीब के करीब सरकार’ रहा और समाज के कमज़ोर वर्गों के लिए कई कल्याणकारी योजनाएं शुरू की गईं हैं। उन्होंने कहा कि हिमकेयर, सहारा योजना, मुख्यमंत्री गृहिणी सुविधा योजना और मुख्यमंत्री शगुन योजना जैसी योजनाओं ने ज़रूरतमंदों और गरीबों को आवश्यक राहत प्रदान की है। उन्होंने कहा कि हिमाचल पथ परिवहन निगम की बसों में महिला यात्रियों को 50 प्रतिशत रियायत दी गई है और घरेलू उपभोक्ताओं को 125 यूनिट मुफ्त बिजली भी उपलब्ध करवाई जा रही है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सत्ता में सरकार को न दोहराने की परंपरा को बदलकर ‘मिशन रिपीट’ सुनिश्चित करने का सरकार का संकल्प कांग्रेस पार्टी के नेताओं को रास नहीं आ रहा है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के एक नेता तो यहां तक दावा कर रहे हैं कि एक आम मुख्यमंत्री इस लक्ष्य को कैसे हासिल कर सकता है, जबकि छह बार के मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ऐसा करने में सफल नहीं हुए। उन्होंने लोगों से आग्रह किया कि आने वाले वर्षों में विकास की गति को निर्बाध रूप से जारी रखने के लिए वर्तमान राज्य सरकार को पूरे दिल से समर्थन देकर विपक्ष को मुंहतोड़ जवाब दें।

नाचन के विधायक विनोद कुमार ने मुख्यमंत्री का स्वागत करते हुए कहा कि इस वर्तमान सरकार के कार्यकाल में क्षेत्र का अभूतपूर्व विकास हुआ है। उन्होंने कहा कि निर्वाचन क्षेत्र में प्रदेश का प्रथम अटल आदर्श विद्यालय स्वीकृत किया गया है। उन्होंने कहा कि इस दौरान क्षेत्र में अनेक स्वास्थ्य, शिक्षा और अन्य संस्थान खोले गए हैं। इस दौरान नाबार्ड के तहत 110 करोड़ रुपये स्वीकृत किए गए हैं। क्षेत्र में स्टेडियम और खेल के मैदान के निर्माण के लिए करोड़ों रुपये प्रदान किए गए हैं। उन्होंने निर्वाचन क्षेत्र में कार्यान्वित की जा रही विभिन्न विकासात्मक परियोजनाओं की विस्तृत जानकारी प्रदान की।

इस अवसर पर सुंदरनगर के विधायक राकेश जम्वाल, बल्ह के विधायक इंद्र सिंह गांधी, मिल्कफेड के अध्यक्ष निहाल चंद शर्मा, जिला परिषद के अध्यक्ष पाल वर्मा, एपीएमसी मंडी के अध्यक्ष दलीप ठाकुर और अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

Share:

editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *