एन ए आई, ब्यूरो।

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज कांगड़ा जिले के ज्वालामुखी विधानसभा क्षेत्र के भडोली कटियारा में लगभग 105 करोड़ रुपये की लागत की 19 विकास परियोजनाओं के लोकार्पण और शिलान्यास किए।

ज्वालामुखी में एक विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने ज्वालामुखी में लोक निर्माण विभाग का मण्डल और मझीन में जल शक्ति विभाग का उप-मण्डल खोलने की घोषणा की। उन्होंने आश्वासन दिया कि मन्दिर न्यास के माध्यम से नर्सिंग कॉलेज खोलने पर सहानुभूतिपूर्वक विचार किया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड-19 महामारी से विश्व बुरी तरह प्रभावित हुआ है, लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सक्षम और कुशल नेतृत्व में न केवल देश में इस महामारी के प्रसार को रोकने के लिए समय पर निर्णय लिए, बल्कि इस घातक वायरस के खिलाफ स्वदेशी टीका विकसित करने के लिए वैज्ञानिकों को भी प्रेरित किया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कुशल नेतृत्व में देश में सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान सफलतापूर्वक चलाया गया।
जय राम ठाकुर ने कहा कि राज्य सरकार ने यह सुनिश्चित किया है कि प्रदेश के प्रत्येक क्षेत्र को विकास के मामले में उचित महत्व मिले तथा उन क्षेत्रों पर विशेष ध्यान दिया जाए, जो किसी न किसी कारण से विकास के मामले में उपेक्षित रहे हैं।

उन्होंने कहा कि वर्तमान राज्य सरकार समाज के सभी वर्गों के कल्याण के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि दूसरी तरफ कांग्रेस ने हमेशा अपनी पार्टी का विकास तथा गरीबों और दलितों की उपेक्षा की है। उन्होंने कहा कि पिछली सरकार द्वारा लोगों के कल्याण के लिए एक भी योजना शुरू नहीं की गई, वहीं वर्तमान राज्य सरकार ने समाज के हर वर्ग का कल्याण सुनिश्चित करने के लिए कई कल्याणकारी योजनाएं शुरू की हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सहारा योजना, मुख्यमंत्री शगुन योजना, मुख्यमंत्री गृहिणी सुविधा योजना, हिमकेयर जैसी योजनाएं समाज के लगभग सभी वर्गों के लिए वरदान साबित हो रही हैं।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने महिला सशक्तिकरण और उनके उत्थान पर विशेष बल दिया है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने हिमाचल पथ परिवहन निगम की बसों में महिलाओं को किराये में 50 प्रतिशत की छूट और घरेलू बिजली उपभोक्ताओं को प्रतिमाह 125 यूनिट तक मुफ्त बिजली देने का निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में निःशुल्क जल उपलब्ध करवाने का भी निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेता प्रदेश में हो रहे विकास को पचा नहीं पा रहे हैं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने विभिन्न पैरा वर्करों के मानदेय में रिकॉर्ड वृद्धि की है। उन्होंने कहा कि चालू वित्त वर्ष के दौरान दिहाड़ीदारों की दिहाड़ी में भी 50 रुपये प्रति दिन की वृद्धि की गई है, जो अपने आप में एक रिकॉर्ड है।

मुख्यमंत्री ने एक बूटा बेटी के नाम योजना के तहत एक बच्ची के माता-पिता को पौधा भी भेंट किया।
जय राम ठाकुर ने भरोली में 30 लाख रुपये की लागत से निर्मित वन विश्राम गृह, ज्वालामुखी में 3.28 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित पुस्तक वितरण केंद्र एवं अतिथि गृह, ज्वालामुखी के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में 95 लाख रुपये की लागत से निर्मित पांच कमरों, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय लागरू में 88 लाख रुपये की लागत से निर्मित अतिरिक्त भवन, 2.75 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित लागरू से टल्ली सड़क, 1.69 करोड़ रुपये की लागत से बलार्डू से अधवानी मार्ग के उन्नयन कार्य, 5.05 करोड़ रुपये की लागत से कुटियारा से त्रियम्बू सड़क के उन्नयन, 3.21 करोड़ रुपये की लागत से सुरानी से बग्गी सड़क के उन्नयन, 5.28 करोड़ रुपये की लागत से अघर से कोहलरी सड़क के उन्नयन, 7.69 करोड़ रुपये की लागत से कथोग से अधे-दी-हट्टियां वाया सीहोपैन नगरोटा लालवाड़ा सड़क के उन्नयन और 3.24 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित सिल्ह से गगरूही वाया डैरेन जंगल सड़क का लोकार्पण किया। उन्होंने इस अवसर पर ज्वालामुखी में विद्युत मंडल का भी उद्घाटन किया, जिससे क्षेत्र की लगभग 68 पंचायतों के 1.84 लाख से अधिक लोग लाभान्वित होंगे।

मुख्यमंत्री ने 55 लाख रुपये से निर्मित होने वाले वन विश्राम गृह जौरू ताल (अम्ब पथियार), तहसील खुंडियां में 17.50 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाली जलापूर्ति योजना के अन्तर्गत विभिन्न जल संसाधन विभाग की वितरण व्यवस्था के सुधार कार्य, तहसील खुंडियां में 5.60 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाली उठाऊ जलापूर्ति योजना सिल्ह, जलापूर्ति योजना खुंडियां, जलापूर्ति योजना घरना और जखनाल के तहत कार्यात्मक घरेलू नल कनेक्शन प्रदान करने, 36.32 करोड़ रुपये की लागत से ज्वालामुखी मंदिर और उसके आसपास के क्षेत्र के लिए उठाऊ जलापूर्ति योजना, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय लगरू में 1.39 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाली विज्ञान प्रयोगशाला, 2.42 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाली समलेटर से कोके वाया काई सड़क, 6.13 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाली सम्पर्क सड़क लंघा लेहासे वाया रोपे से मुंडल और 78 लाख रुपये की लागत से निर्मित होने वाले पशु औषधालय भवन घल्लौर का शिलान्यास किया।

ज्वालामुखी के विधायक एवं राज्य योजना बोर्ड के उपाध्यक्ष रमेश चंद धवाला ने मुख्यमंत्री का स्वागत करते हुए क्षेत्र की विभिन्न विकासात्मक मांगों का ब्यौरा दिया। उन्होंने कहा कि प्रदेश की जनता का सौभाग्य है कि आज प्रदेश का नेतृत्व एक साधारण और ईमानदार मुख्यमंत्री कर रहे हैं, जो विकास के मामले में हिमाचल प्रदेश को देश का अग्रणी राज्य बनाने के लिए अथक प्रयास कर रहे हैं।

उन्होंने राज्य में महिलाओं को हिमाचल पथ परिवहन निगम की बसों में किराये में पचास प्रतिशत रियायत देने के अलावा ग्रामीण क्षेत्रों में निःशुल्क पेयजल उपलब्ध करवाने के लिए भी मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि गरीबों और दलितों के कल्याण के लिए शुरू की गई कई योजनाएं उनकी सामाजिक-आर्थिक स्थिति में सुधार के लिए वरदान साबित हुई हैं। उन्होंने आम आदमी पार्टी नेताओं द्वारा किए जा रहे झूठे वायदों और बड़े-बड़े दावों के प्रति लोगों को आगाह भी किया। उन्होंने कहा कि दूसरी तरफ कांग्रेस पार्टी बंटा हुआ घर है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर के कुशल नेतृत्व में भाजपा राज्य में फिर से सरकार बनाएगी। उन्होंने कहा कि उनके क्षेत्र में 250 करोड़ रुपये के विकास कार्य चल रहे हैं।

इस अवसर पर उद्योग मंत्री बिक्रम सिंह, सांसद किशन कपूर और इंदु गोस्वामी, पूर्व मंत्री रविंद्र सिंह रवि, जिला भाजपा अध्यक्ष और एपीएमसी के अध्यक्ष संजीव शर्मा तथा सांस्कृितक प्रकोष्ठ के राज्य संयोजक करनैल राणा और अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

Share:

editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *