एन ए आई, ब्यूरो।

कांगड़ा, मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज कांगड़ा जिला की जस्वां परागपुर विधानसभा क्षेत्र में 190 करोड़ रुपये की 39 विकासात्मक परियोजनाओं के लोकार्पण व शिलान्यास किए। उन्होंने प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र परागपुर को मॉडल प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र नागरिक अस्पताल गरली में चिकित्सकों के अतिरिक्त पदों के सृजन और राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला बथरा में विज्ञान कक्षाएं तथा राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला कुहना में वाणिज्य कक्षाएं शुरू करने की भी घोषणाएं की।
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोविड-19 महामारी के विरूद्ध लड़ाई में देश का सफलतापूर्वक नेतृत्व किया। उन्होंने कहा कि देश में विश्व के सबसे बड़े निःशुल्क टीकाकरण अभियान का सफलतापूर्वक संचालन किया जा रहा है। केंद्र और प्रदेश सरकार की विकासात्मक नीतियों और कार्यक्रमों से समाज का हर वर्ग लाभान्वित हो रहा है। उन्होंने कहा कि केंद्र की किसान सम्मान निधि योजना, उज्ज्वला योजना, आयुष्मान भारत जैसी कई योजनाओं से देश के करोड़ों लोग लाभान्वित हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि इसी प्रकार प्रदेश सरकार की गृहिणी सुविधा योजना, हिमकेयर, सहारा योजना, शगुन जैसी योजनाओं से प्रदेश के लाखों लोग लाभान्वित हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण बात है कि कांग्रेस के नेता प्रदेश में हो रहे विकास को पचा नहींे पा रहे हैं। कांग्रेस ने अपने कार्याकाल के दौरान देश की जनता के कल्याण के लिए कुछ नहीं किया।

जय राम ठाकुर ने कहा कि वर्तमान प्रदेश सरकार ने पिछले साढ़े चार वर्षों के दौरान सभी कल्याणकारी नीतियों और विकासात्मक परियोजनाओं का लाभ प्रत्येक व्यक्ति तक पहंुचाना सुनिश्चित किया। उन्होंने कहा कि लंबे समय से बीमार मरीज के परिवार के लिए सहारा योजना वरदान साबित हो रही है। उन्होंने कहा कि इस योजना के अन्तर्गत ऐसे परिवारों को प्रतिमाह तीन हजार रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान की जा रही है। उन्होंने कहा कि यह आश्चर्य की बात है कि कांग्रेस ने 50 साल सत्ता में रहने के बावजूद समाज के ऐसे वर्गोें के लिए कुछ नहीं किया। उन्होंने कहा कि प्रदेश में महिला सशक्तिकरण की दिशा में कई योजनाएं शुरू की गई हैं। मुख्यमंत्री स्वावलम्बन योजना से प्रदेश के युवा नौकरी के पीछे भागने के बजाय नौकरी प्रदाता बन रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार ने महिला यात्रियों को हिमाचल पथ परिवहन निगम की बसों में किराए में 50 प्रतिशत छूट और इस वर्ष जुलाई से प्रदेश के घरेलू उपभोक्ताओं को 125 यूनिट तक निःशुल्क बिजली प्रदान करने का निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में निःशुल्क पेयजल सुविधा उपलब्ध करवाने का भी निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के नेता प्रदेश सरकार के इन निर्णयों का विरोध कर रहे हैं जो इन नेताओं दोहरे चेहरे को दिखाता है। उन्होंने कहा कि प्रतिमाह 125 यूनिट से कम बिजली खपत पर उपभोक्ताओं से जीरो बिल लिया जाएगा जिससे राज्य के 15 लाख से अधिक उपभोक्ता लाभान्वित होंगे।

जय राम ठाकुर ने कोरोना महामारी के संकटकाल के दौरान प्रदेशवासियों के पूर्ण सहयोग के लिए आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेताओं ने इस महामारी के दौरान अपने आलाकमान को प्रदेश के लोगांे को मास्क, भोजन पैकेट और सैनेटाइजर उपलब्ध करवाने में खर्च की गई 12 करोड़ रुपये की राशि का बिल दिया। उन्होंने कहा कि हिमाचल जैसे छोटे राज्य में चार कार्यकारी अध्यक्ष नियुक्त करने का निर्णय भी हास्यप्रद है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस को ऐसा करने के लिए मजबूर होना पड़ा क्योंकि कई नेता पार्टी छोड़ने वाले थे।

इससे पहले मुख्यमंत्री ने 2.02 करोड़ रुपये से उठाऊ पेयजल योजना अलोह पूननी की वितरण प्रणाली के सुधार कार्य, 16.03 करोड़ रुपये से जल जीवन मिशन के अन्तर्गत ग्राम पंचायत समूह सलूही, कोलापुर, शांतला, दोदू एवं कहूना के लिए घरेलू नल कनेक्शन योजना, 2.05 करोड़ रुपये से उठाऊ सिंचाई योजना चमुखा की वितरण प्रणाली के सुधार कार्य, तहसील जसवां 2.05 करोड़ रुपये से उठाऊ सिंचाई योजना बाड़ी सांडा के संवर्द्धन एवं विस्तार कार्य, 3.42 करोड़ रुपये से जल जीवन मिशन के अन्तर्गत पेयजल योजनाओं बाथु टिप्परी, बह दोदरा, अमरोह, कोई गुम्मी, बथरा, पघन भलवाल, स्वाणा टिप्परी, बथरा सेग, स्वार्थी, डाडा वन, डाडा कलेहर, नंगल चौक, बाड़ी सांडा, करोआ, समनोली एवं दर्वा अमलोहर खनूडी के लिए घरेलू नल कनेक्शन योजना, 1.41 करोड़ रुपये से जल जीवन मिशन के अन्तर्गत ग्राम पंचायत समूह अलोह पुनानी, टिक्कर, भरोली जदीद, कुडना, गरली एवं नाहन नगरोटा के लिए घरेलू नल कनेक्शन योजना, 1.64 करोड़ रुपये से जल जीवन मिशन के अंतर्गत पेयजल योजना कस्बा कोटला, संसारपुर टेरेस, डूहकी कस्बा, नंगल बस्सी पटटी के लिए घरेलू नल कनेक्शन योजना का लोकार्पण किया।

उन्होंने 2.52 करोड़ रुपये से निर्मित शान्तला बड़वार वाया साई पुल, 8.48 करोड़ रुपये से निर्मित चौली से (नलूए दा खूह) से भरोली जदीद सड़क पुल सहित, 3.87 करोड़ रुपये से निर्मित कलोहा से शंातला सड़क 1.15 करोड़ रुपये से निर्मित डेही पुखर से गलुआ वाया जोल सड़क, 7.05 करोड़ रुपये से निर्मित भवाई से कलोहा सड़क, 5.43 करोड़ रुपये की लागत से कलोहा शांतला सड़क पर सरड़ा डोगरी खड्ड पर निर्मित पुल, 2.52 करोड़ रुपये से बरनैल से पौंग डैंम सड़क तथा बड़ाल से धीमान बस्ती वाया बुहाला सड़क के उन्नयन कार्य, 1.66 करोड़ रुपये से निर्मित कनौल से ढोंटा सड़क, स्वां खड्ड पर सीआरपीएफ के अन्तर्गत 42.90 करोड़ रुपये से निर्मित पुल और 2.03 करोड़ रुपये से 33 के.वी.एच.टी. लाईन लोहला मलाकन से 33 के.वी. भरोली जदीद का लोकार्पण किया।

जय राम ठाकुर ने 20.57 करोड़ रुपये लागत की उठाऊ सिंचाई योजना संसारपुर टेरेस एवं क़स्बा कोटला के संवर्धन कार्य, जल जीवन मिशन के अंतर्गत 3.80 करोड़ रुपये लागत की ग्राम समूह गरली, बणी, मानियाला, चनौता और बलियाणा के लिए घरेलू नल कनेक्शन योजना, जल जीवन मिशन के अंतर्गत 3.81 करोड़ रुपये की लागत की जलापूर्ति योजना डूहकी कस्बा दिदियां पपलोथर के अंतर्गत ग्राम पंचायत रैल, बनेर, स्यूल, गोरालधार, लंडीयारा और क़स्बा जागीर के लिए जलापूर्ति योजना के निर्माण कार्य, तहसील जसवां में 1.17 करोड़ रुपये लागत की उठाऊ पेयजल योजना काहनपुर, 2.81 करोड़ रुपये लागत की उठाऊ सिंचाई योजना जटोली कुरियाल खेड़ा, 1.29 करोड़ रुपये लागत की उठाऊ सिंचाई योजना कूहना की मुरम्मत कार्य, हिमकैड के अंतर्गत 2.79 करोड़ रुपये लागत की चम्बा खास, कूहना, चमुखा, जोल भतौला एवं लंडीयारा सिंचाई योजनाओं के विस्तार कार्य, जल जीवन मिशन के अंतर्गत गांव परागपुर और आस-पास क्षेत्र के लिए 6.62 करोड़ रुपये लागत की जलापूर्ति योजना के स्त्रोत के सुधार, 1.24 करोड़ रुपये लागत की उठाऊ पेयजल योजना डाडासिबा (डाडा वान डाडा कलेहर) के स्त्रोत के सुधार एवं विस्तार, 1.56 करोड़ रुपये लागत की औद्योगिक क्षेत्र चनौर के लिए पेयजल योजना और 1.46 करोड़ रुपये लागत की ग्राम डोडरा, जलेरा एवं मस्तयाल के लिए पेयजल योजना के निर्माण कार्य का शिलान्यास किया।

मुख्यमंत्री ने 7.09 करोड़ रुपये की लागत के सदवां से कालेश्वर सड़क मार्ग के सुधारीकरण व चौड़ा करने, बनी से परागपुर वाया डागरा सिद्व सड़क मार्ग पर 5.32 करोड़ से निर्मित होने वाले दो पुलों, 81 लाख से निर्मित होने वाले राजकीय उच्च विद्यालय त्यामल से देवीधार एम्बुलेंस सड़क, 72 लाख रुपये की लागत के रिरी कुट से तलपियां दी सराय सड़क के सुधारीकरण कार्य, कोटला अमरोह रोड से पटियेल बस्ती तक 2.07 करोड़ रुपये से निर्मित होने वाले सम्पर्क मार्ग, 1.93 करोड रुपये की लागत से नागोह से स्वाहं खड्ड सड़क पर निर्मित होने वाले पुल, 1.47 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाले कोटला बिहार घाटी बिलवां सड़क से गांव खनोड़े चौकी दी वड़ सम्पर्क मार्ग, 69 लाख की लागत से निर्मित होने वाले पक्का भरो से लोअर चलाली सड़क मार्ग, रक्कड़ में 78 लाख रुपये की लागत से निर्मित होने वाले उप-कोषागार कार्यालय भवन, कोटला बिहार में 3.66 करोड़ की लागत से निर्मित होने वाले मंडल कार्यालय भवन और 11.10 करोड़ की लागत से कस्बा कोटला में निर्मित होने वाले 33/11 केवी सब स्टेशन के कार्य की आधारशिला भी रखी।

मुख्यमंत्री को उद्योग मंत्री बिक्रम सिंह द्वारा उद्योग विभाग की ओर से 25 लाख रुपये का चेक और जीआईसी की ओर से मुख्यमंत्री कोष में 21 लाख रुपये का एक अन्य चेक प्रदान किया गया।
इस अवसर पर मुख्यमंत्री को विभिन्न सामाजिक, राजनीतिक और सांस्कृतिक संस्थाओं द्वारा सम्मानित भी किया गया।

उद्योग मंत्री बिक्रम सिंह ने अपने गृह विधानसभा क्षेत्र में मुख्यमंत्री का स्वागत करते हुए लगभग 190 करोड़ रुपये की विकासात्मक परियोजनाओं को समर्पित करने और क्षेत्र की विकासात्मक आवश्यकताओं के प्रति हमेशा ध्यान रखने के लिए मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने राज्य के लोगों के कल्याण के लिए अनेक योजनाएं आरम्भ की हैं।

उन्होंने कहा कि राज्य के लोगों ने प्रदेश में भाजपा के मिशन रिपीट को सुनिश्चित करने का मन बना लिया है। उन्होंने राज्य में कोविड-19 महामारी से प्रभावी ढंग से निपटने के लिए राज्य सरकार के प्रयासों की भी सराहना की। उन्होंने क्षेत्र की विभिन्न विकासात्मक मांगों की जानकारी मुख्यमंत्री को दी और सीआरएफ के अन्तर्गत स्वां खड्ड पर 42.90 करोड़ रुपये की लागत के पुल को समर्पित करने के लिए आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा इससे क्षेत्र के लोगों को लाभ होगा।

भाजपा जिलाध्यक्ष संजीव शर्मा ने मुख्यमंत्री एवं अन्य गणमान्य लोगों का स्वागत करते हुए क्षेत्र की विभिन्न विकासात्मक मांगों की विस्तापूर्वक जानकारी दी।

राज्य योजना बोर्ड के उपाध्यक्ष रमेश धवाला, जवाली के विधायक अर्जुन ठाकुर, पूर्व विधायक रविन्द्र सिंह रवि, हिमाचल प्रदेश भवन एवं अन्य निर्माण कामगार कल्याण बोर्ड के उपाध्यक्ष डॉ. संजीव बबली, उपायुक्त कांगड़ा डॉ. निपुण जिंदल, पुलिस अधीक्षक डॉ. खुशाल शर्मा सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति इस अवसर पर उपस्थित थे।

Share:

editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *