एन ए आई, ब्यूरो।

कांगड़ा, मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज कांगड़ा विधानसभा क्षेत्र के पुराना मटौर में लगभग 53 करोड़ रुपये की कुल 23 विकासात्मक परियोजनाओं के लोकार्पण एवं शिलान्यास किए।
उन्होंने कांगड़ा में 5 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित पुलिस थाना भवन, 67 लाख रुपये से निर्मित लोक निर्माण विश्राम गृह कांगड़ा के अतिरिक्त भवन, 2.23 करोड़ रुपये की लागत से मटौर-कोहाला उपरेहड़ सड़क का उन्नयन, 2.11 करोड़ रुपये की लागत से बने उल्थी-बलोर संपर्क मार्ग एवं नालहेली खड्ड पुल, 1.48 करोड़ रुपये निर्मित कोटक्वाला-जमानाबाद मार्ग, छेब में 2.84 करोड़ रुपये से निर्मित 33केवी विद्युत उप केन्द्र, 3.5 करोड़ रुपये से बने माता दा बाग और 3.5 करोड़ रुपये से माता बज्रेश्वरी मंदिर के पास निर्मित सराय का उदघाटन किया। उन्होंने रानीताल में नए जलशक्ति उपमंडल और ठाकुरद्वारा में कनिष्ठ अभियंता कार्यालय का शुभारंभ भी किया।

मुख्यमंत्री ने 10 करोड़ रुपये से बनने वाले इंडोर स्टेडियम, 30 लाख रुपये से बनने वाले मुख्यमंत्री लोक भवन, गग्गल में 1.8 करोड़ रुपये की ट्यूबवैल जलापूर्ति योजना, 1.8 करोड़ रुपये की गग्गल जोगीपुर, नटेहड़ चरण-2 पेयजल योजना, 1.8 करोड़ रुपये की अंसोली बडवाल मटौर पेयजल योजना, 1.3 करोड़ रुपये की कोहला पेयजल योजना, 2.45 करोड़ रुपये की खोली पेयजल योजना, 7.5 करोड़ रुपये की गाहलियां, ठाकुरद्वारा पेयजल योजना, 1.1 करोड़ रुपये की रजियाणा रानीताल पेयजल योजना, 62 लाख रुपये की बोडरवाला उठाऊ सिंचाई योजना, 77 लाख रुपये से सलोल पेयजल योजना का सुदृढ़ीकरण, 1.42 करोड़ रुपये से बौहड़क्वालू पेजयल योजना के सुदृढ़ीकरण कार्य और 60 लाख रुपये की बहुमंजिला पार्किंग का शिलान्यास भी किया।

इस अवसर पर ‘प्रगतिशील हिमाचल: स्थापना के 75 वर्ष’ कार्यक्रम के तहत पुराना मटौर में विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि विपक्षी दल के प्रमुख नेता अपने समर्थकों के साथ भाजपा में शामिल हो रहे हैं और यह इस बात का संकेत है अब लोगों का विपक्षी दल से विश्वास उठ गया है और अब वर्तमान प्रदेश सरकार फिर से सत्ता में आएगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि 75 वर्षों के दौरान हिमाचल प्रदेश ने सभी क्षेत्रों में अभूतपूर्व प्रगति की है। उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश के गठन के समय साक्षरता दर जो केवल 4.8 प्रतिशत थी, वह पिछली जनगणना के अनुसार 83 प्रतिशत हो गई है और आज की स्थिति में यह संभवतः 90 प्रतिशत के आंकड़े को पार कर गई है। राज्य में सड़कों की लंबाई 1948 में 288 किलोमीटर से बढ़कर अब लगभग 39,500 किलोमीटर हो गई है। स्वास्थ्य संस्थानों की संख्या 88 से बढ़कर 4320 हो गई है। उन्होंने कहा कि गठन के समय राज्य में केवल 301 शिक्षण संस्थान थे, जबकि आज यह संख्या 16,124 हो गई है।

जय राम ठाकुर ने कहा कि वर्ष 1948 में राज्य की प्रति व्यक्ति आय 240 रुपये थी जो अब बढ़कर दो लाख रुपये के जादुई आंकड़े को छू चुकी है। मुख्यमंत्री ने हिमाचल प्रदेश के अस्तित्व में आने के 75 वर्षों के उपलक्ष्य में चम्बा में आयोजित कार्यक्रम के दौरान लगाई गई प्रदर्शनी का उल्लेख करते हुए कहा कि गठन के समय राज्य में नदियों को पार करने के लिए पारम्परिक साधनों का उपयोग करना पड़ता था, जबकि आज प्रदेश में 2326 पुल हैं तथा दूरदराज के क्षेत्रों को आपस में जोड़ने के लिए सम्पर्क मार्गों की सुविधा भी उपलब्ध है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पूर्व सरकार ने सामाजिक सुरक्षा पेंशन के अन्तर्गत 4 लाख लाभार्थियों पर केवल 400 करोड़ रुपये ही व्यय किए जबकि वर्तमान प्रदेश सरकार इस पर 1300 करोड़ रुपये व्यय कर रही है जिससे प्रदेश में लगभग 7.50 लाख लाभार्थी सामाजिक सुरक्षा पेंशन प्राप्त कर रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर कांगड़ा में जल शक्ति विभाग का नया मण्डल खोलने की घोषणा की। उन्होंने नागरिक अस्पताल कांगड़ा को 50 बिस्तर क्षमता से 100 बिस्तर क्षमता में स्तरोन्नत करने, भडयाड़ा में औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान खोलने, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला मटौर में साइंस ब्लॉक के निर्माण, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला बौड़कुआलू में विज्ञान कक्षाएं शुरू करने और राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला वीरता में वाणिज्य संकाय की कक्षाएं आरम्भ करने की भी घोषणा की।

जय राम ठाकुर ने आवश्यक मानक पूर्ण करने पर राजकीय स्नातक महाविद्यालय मटौर में विज्ञान कक्षाएं शुरू करने, रानीताल में नई उप तहसील खोलने, रानीताल में नया प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र खोलने, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र तकीपुर को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में स्तरोन्नत करने, सोहड़ा में नया पशु चिकित्सालय खोलने, ग्राम पंचायत रजोल में स्थित उप स्वास्थ्य केन्द्र को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में स्तरोन्नत करने तथा उप स्वास्थ्य केन्द्र गाहलियां को प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में स्तरोन्नत करने की भी घोषणा की।

इस अवसर पर स्थानीय विधायक पवन काजल ने मुख्यमंत्री का स्वागत किया और विभिन्न परियोजनाओं के लोकार्पण एवं शिलान्यास के लिए उनका आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर के गतिशील नेतृत्व में कांगड़ा विधानसभा क्षेत्र का चहुंमुखी विकास सुनिश्चित हो रहा है।

समारोह में सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री सरवीण चौधरी, विधायक विशाल नैहरिया, अरुण कुमार और रविंद्र धीमान, हिमाचल प्रदेश वूल फेडरेशन के अध्यक्ष त्रिलोक कपूर, कांगड़ा केंद्रीय सहकारी बैंक के अध्यक्ष डॉ. राजीव भारद्वाज, अन्य पिछड़ा वर्ग वित्त विकास निगम के उपाध्यक्ष ओ.पी. चौधरी, पूर्व विधायक योग राज, जिला परिषद अध्यक्ष रमेश बराड़, जिला भाजपा अध्यक्ष चंद्रभूषण नाग, मंडल अध्यक्ष सतपाल सोनी, प्रदेश बास्केटबाल एसोसिएशन के अध्यक्ष मुनीष शर्मा, उपायुक्त डॉ. निपुण जिंदल, पुलिस अधीक्षक खुशाल शर्मा और अन्य गणमान्य लोग भी इस अवसर पर उपस्थित थे।

Share:

editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *