एन ए आई ब्यूरो।

ऊना, नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर मुझे जल्दबाजी में करार दे रहे हैं जबकि प्लानिंग की बैठक में हम उन्हें यह कहकर आए हैं कि आपके पास अब समय ही नहीं बचा है। उन्होंने कहा कि जिस गाड़ी को मैं चला रहा हूं उसकी दुर्घटना किंतु परंतु की बात है लेकिन मुख्यमंत्री जिस गाड़ी को चला रहे हैं उसका तो भीषण हादसा पहले ही कर चुके हैं। मुख्यमंत्री ऐसा एक्सीडेंट कर चुके हैं कि अब गाड़ी दोबारा नहीं चलेगी उसका इंजन भी स्टार्ट नहीं होने वाला। उन्होंने कहा की हमारी तो बिल्कुल नई गाड़ी आने वाली है लेकिन मुख्यमंत्री की गाड़ी टोटल लॉस हो चुकी है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री सोच रहे हैं कि जिस तरह के वह खुद चालक हैं वैसे ही चालक अन्य लोग भी होंगे। मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि जयराम ठाकुर को हिमाचल की जनता के मूड को अब भांप लेना चाहिए। उनके दिन अब थोड़े रह चुके हैं, समय बदल चुका है, हिमाचल की जनता बदलाव लाना चाहती है। उन्होंने कहा कि जयराम चाहे धन, बल, छल जो मर्जी लगा ले उनकी सरकार अब बचने वाली नहीं है।

सुंदरनगर के जहरीली शराब कांड को लेकर मुख्यमंत्री द्वारा जल्द पर्दाफाश होने की बात पर पलटवार करते हुए मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि सरकार आप चला रहे हैं यह आपको बताना है कि शराब माफिया से जुड़े लोग किसके हैं। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि मुख्यमंत्री को अब इशारे करना छोड़ देना चाहिए उन्हें इस बात का अहसास होना चाहिए कि आप के शासन में शराब माफिया जमकर पनपा ही नहीं बल्कि फला फूला भी है। शराब माफिया दनदनाता फिर रहा है, अवैध शराब के कारोबार ने प्रदेश भर में तमाम रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं। हर गली और नुक्कड़ पर पैग सेल की जा रही है। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि जब हम सरकार का ध्यान इस माफिया की तरफ खींच रहे थे तब सरकार ने कोई कदम नहीं उठाया, उसी का नतीजा है कि आज मुख्यमंत्री के गृह जिले में जहरीली शराब पीने के चलते 7 लोगों की मौत हो चुकी है। उन्होंने कहा कि हालत यह है कि प्रदेश के हर बैरियर पर से अवैध शराब हिमाचल प्रदेश में दाखिल हो रही है लेकिन उस पर कोई भी चेक नहीं है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री को बताना चाहिए कि वह शराब ठेका के टेंडर क्यों नहीं करवा रहे। हर बार पुराने टेंडर को रिन्यू क्यों किया जा रहा है इसमें क्या गोल माल है सरकार को यह भी स्पष्ट करना चाहिए।

Share:

editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *