एन ए आई, ब्यूरो।

ऊना, जिला कांग्रेस कमेटी के आहवान पर जिला भर के तमाम ब्लॉकों में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने महंगाई के खिलाफ जमकर रोष प्रदर्शन किया है। रोष प्रदर्शन की कमान जिला मुख्यालय पर सदर के विधायक सतपाल सिंह रायजादा ने संभाली वही नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री के विधानसभा क्षेत्र हरोली में जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ सड़कों पर दिखे। कांग्रेस के नेताओं ने पेट्रो पदार्थों के साथ-साथ सीमेंट सरिया और खाद्य पदार्थों की बढ़ती हुई कीमतों को लेकर भाजपा सरकार के खिलाफ जमकर गुबार निकाला। कांग्रेस नेताओं ने कहा कि कुछ साल पहले तक कांग्रेस की सरकारों के समय महंगाई का रोना रोने वाले भाजपा ही आज मुंह छुपाते फिर रहे हैं।

जिला मुख्यालय के डीसी ऑफिस कार्यालय के बाहर कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं ने महंगाई के खिलाफ जमकर रोष प्रदर्शन किया। प्रदर्शन की अगुवाई ऊना सदर के विधायक सतपाल सिंह रायजादा ने की। धरना प्रदर्शन की अगुवाई करते हुए विधायक सतपाल सिंह रायजादा ने भाजपा की केंद्र और प्रदेश सरकारों को महंगाई के लिए जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार की कथनी और करनी में अंतर साफ दिख रहा है। जब पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव होने थे तो हर वस्तु के दामों में कटौती की गई। जबकि चुनावी नतीजे सामने आने के तुरंत बाद भाजपा सरकार ने अपना असली चेहरा दिखाते हुए जनता को महंगाई के बोझ तले दबाना शुरू कर दिया है। उन्होंने कहा कि बाबा रामदेव यूपीए सरकार के समय महंगाई के खिलाफ प्रदर्शन करते थे लेकिन आज वह महंगाई को लेकर पत्रकारों द्वारा पूछे गए सवालों पर भी उल्टे सीधे जवाब देकर जनता के साथ मजाक कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि आज भारत भुखमरी की कगार पर खड़ा दिखाई दे रहा है।

वहीँ उपमंडल मुख्यालय हरोली में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जिला अध्यक्ष रणजीत सिंह राणा की अध्यक्षता में महंगाई के खिलाफ प्रदर्शन किया। इस मौके पर जिला कांग्रेस अध्यक्ष रणजीत राणा ने कहा कि महंगाई के चलते जनता में त्राहि-त्राहि मची है। लेकिन भाजपा सरकार गूंगी और बहरी हो चुकी है। उन्होंने कहा कि आज सीमेंट सरिया ही नहीं बल्कि पेट्रो पदार्थ और खाद्य वस्तुओं के दाम भी बेतहाशा बढ़ चुके हैं। पहले तो सिर्फ लोगों सपनों का आशियाना उनसे दूर गया था, लेकिन अब उनके मुंह का निवाला भी भाजपा की सरकारें छीनने में जुट गई हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जिला भर में ब्लॉक स्तर पर महंगाई के खिलाफ प्रदर्शन किए हैं। वही हरोली में भी प्रदर्शन के बाद एसडीएम के माध्यम से सरकार को ज्ञापन भेजकर होश में आने की ताकीद की जा रही है। उन्होंने कहा कि डीजल और पेट्रोल की कीमतें लगभग पिछले 10 दिन से रोजाना कभी साथ पैसे कभी 70 पैसे तो कभी 80 पैसे बढ़ाई जा रही है। कुल मिलाकर पेट्रो पदार्थों की बढ़ती कीमतों का असर हर वस्तु की कीमतों पर पड़ रहा है। ऐसे में सरकार को सत्ता के मद से निकलकर महंगाई के चलते त्राहिमाम कर रही जनता की सुध लेने का प्रयास करना चाहिए।

Share:

editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *