एन ए आई, ब्यूरो।

मनाली, पहाड़ों पर रात से हो रही बारिश के कारण ब्यास की सभी सहायक नदियां उफान पर हैं, जिससे ब्यास नदी का जलस्तर बढ़ गया है। वशिष्ठ चौक के पास नदी ने सड़क की ओर रुख बदला है, जिससे नदी किनारे वाले घरों को खतरा हो गया है। दो जगह सड़क को भारी नुकसान हुआ है। लेकिन फिलहाल मनाली लेह मार्ग पर वाहनों की आवाजाही सुचारू है। ब्यास नदी का बहाव कम नहीं हुआ तो सड़क बाधित हो सकती है। सड़क के क्षतिग्रस्त होने से वीआरओ को नुकसान हुआ है।

खतरे को देखते हुए मनाली प्रशासन ने वशिष्ठ चौक के पास वाले घरों को खाली करवा दिया है। बाहंग में भी कुछ घर खाली कर दिए हैं। ब्यास नदी रौद्र रूप में है, जिसे देखते हुए मनाली प्रशासन ने पलचान से लेकर पतलीकूहल तक लोगों को सतर्क कर दिया है।

वशिष्ठ के ग्रामीण पिंटू ने बताया कि सुबह लगभग चार बजे ब्यास नदी में बाढ़ आ गई। नदी की भयानक आवाज सुनकर लोग डर गए। उन्होंने बताया कि बाहंग व वशिष्ठ चौक के पास नदी किनारे रहने वाले लोग घर छोड़कर भागने को मजबूर हो गए।

एसडीएम मनाली डा. सुरेन्द्र ठाकुर ने बताया कि ब्यास नदी में बाढ़ आ गई है। नदी का रुख घरों की तरह हो गया है। नदी किनारे खतरे वाले घरों को खाली करवाया गया है। पलचान से पतलीकूहल तक लोगों को सतर्क कर दिया है। बीआरओ, जल शक्ति विभाग के बीडीओ नग्गर के साथ संयुक्त दौरा किया जाएगा और नुकसान का जायजा लिया जाएगा।

Share:

editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *