एन ए आई, ब्यूरो

ऊना, जिला ऊना मुख्यालय के वार्ड 4 स्थित राधा स्वामी सत्संग घर के समीप स्लम एरिया में वीरवार दोपहर बाद अचानक भीषण अग्निकांड हो गया। हादसे में प्रवासी मजदूरों की सैकड़ों झुग्गियां जलकर राख हो गई। दमकल विभाग की कई गाड़ियों को मौके पर बुलाना पड़ा लेकिन इसके बावजूद आग पर काबू पाने में घंटों का समय लग गया। वहीं हादसे की जानकारी मिलते ही वित्त आयोग के अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती पुलिस और प्रशासन के तमाम आला अधिकारी विभिन्न समाजसेवी संगठनों के कार्यकर्ता राहभीषण आगजनी में खाक हुई प्रवासियों की सैकड़ों झुग्गियां, हर तरफ जी को पुकार से दर्दनाक हुआ मंजर, दमकल विभाग को करनी पड़ी कड़ी मशक्कत और बचाव कार्यों के लिए घटनास्थल पर पहुंचे।

आगजनी के बीच चीखों पुकार के चलते मंजर बेहद दर्दनाक हो गया। आग लगने के कारणों का अभी तक पता नहीं चल पाया है। दमकल विभाग आगजनी में हुए नुकसान का आकलन लगा रहा है वहीं पुलिस ने भी मामले के संबंध में जांच शुरू कर दी है।

ऊना शहर के वार्ड 4 स्थित स्लम एरिया में वीरवार बाद दोपहर अचानक भीषण आग भड़क उठी। आगजनी में प्रवासी मजदूरों की सैकड़ों झुग्गियां जलकर राख हो गई। हादसे में प्रवासी मजदूरों का लाखों रुपए का नुकसान होने का अनुमान लगाया जा रहा है।

वही दो बच्चे भी लापता बताए जा रहे हैं जिनकी तलाश की जा रही है। हालांकि आधिकारिक रूप से किसी प्रकार का जानी नुकसान होने की सूचना नहीं है। दमकल विभाग को आग पर काबू पाने के लिए कड़ी मशक्कत करनी पड़ी। भीषण गर्मी और तेज हवाओं के बीच आग लगातार रौद्र रूप धारण करती रही। जिसके चलते राहत और बचाव कार्य काफी प्रभावित हुए। आगजनी के चलते घटना स्थल का माहौल बेहद दर्दनाक रहा।

हर तरफ प्रवासी मजदूर अपने नन्हे-मुन्ने बच्चों को खोजते हुए चीखो पुकार करते घूम रहे थे। घटना की जानकारी मिलते ही वित्त आयोग के अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती, एसडीएम डॉ निधि पटेल, एडिशनल एसपी प्रवीण कुमार धीमान, सीएमओ डॉ मंजू बहल समेत तमाम अधिकारी घटनास्थल पर जा पहुंचे। आग पर काबू पाने के लिए दमकल विभाग की भी कई गाड़ियों को मौके पर बुलाना पड़ा लेकिन आग पर नियंत्रण करने के लिए दमकल कर्मियों को कड़ी मशक्कत करनी पड़ी। वित्त आयोग के अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती ने कहा है कि गर्मी के मौसम में इस प्रकार की घटनाएं होती है और प्रवासी श्रमिकों के लिए यह मौसम चुनौतियों भरा रहता है।

उन्होंने कहा कि हादसा बेहद दुखद है लेकिन अब प्रवासी श्रमिकों के पुनर्वास के लिए प्रयास किए जाएंगे। सरकार और प्रशासन के स्तर पर जो भी दायित्व रहेगा उसका निर्वहन अवश्य होगा। सतपाल सिंह सत्ती ने समाज के प्रमुख लोगों से भी प्रवासी श्रमिकों की मदद में हाथ बढ़ाने का आह्वान किया।

 

Share:

editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

AllEscort