एन ए आई ब्यूरो।

भारत के 19 साल के भारोत्तोलक जेरेमी लालरिननुंगा अपना श्रेष्ठ प्रदर्शन तो नहीं कर पाए लेकिन 67 भारवर्ग में उनका 305 (141+164 किलोग्राम) वजन का प्रयास राष्ट्रमंडल चैंपियनशिप में स्वर्ण दिलाने के लिए काफी रहा। यह प्रतियोगिता 2022 में बर्मिंघम में होने वाले राष्ट्रमंडल खेलों के लिए क्वालिफाइंग स्पर्धा भी है।

2018 यूथ ओलंपिक स्वर्ण पदक विजेता जेरेमी का श्रेष्ठ प्रदर्शन 306 (140+166 किलोग्राम) वजन उठाने का है जो उन्होंने 2019 में किया था। मिजोरम के जेरेमी ने अपने स्वर्णिम अभियान के दौरान स्नैच में राष्ट्रीय रिकॉर्ड बनाया लेकिन क्लीन एंड जर्क में ऐसा नहीं कर सके।

स्नैच में वह चौथे और ओवरऑल सातवें स्थान पर रहे। जेरेमी को अप्रैल में एशियाई चैंपियनशिप के दौरान घुटने में चोट लग गई थी। मई में वह जूनियर विश्व चैंपियनशिप में चौथे स्थान पर रहे और टोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालिफाई नहीं कर सके थे।

Share:

editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *