एन ए आई ब्यूरो।

शिमला,भाजपा प्रदेश चंडीगढ़ एवं हिमाचल प्रदेश ने संयुक्त रूप से कल प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के काफले को रोकने की घटना के उपरांत एक शव यात्रा का आयोजन किया गया।

इस यात्रा की अध्यक्षता चंडीगढ़ प्रांत के महामंत्री रामवीर भट्टी न की उनके साथ चंडीगढ़ नगर निगम के नवनिर्वाचित पार्षद भी उपस्थित रहे।

शव यात्रा चौड़ा मैदान से विधान सभा तक चली जहाँ कार्यकर्ताओं ने पंजाब सरकार के शव को अग्नि दी।

चंडीगढ़ प्रदेश महामंत्री रामवीर भट्टी ने कहा कि कल पंजाब में नरेंद्र मोदी के काफिले को रोका गया वह चन्नी सरकार की एक बड़ी साजिश थी, यह पूरी योजना राहुल और प्रियंका गांधी द्वारा बनाई गई थी।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री चन्नी नही चुहन्नी है , वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जनलोकप्रियता से डर गए थे।

यह पहली बार हुआ है कि देश के किसी प्रधानमंत्री की सुरक्षा में एक सरकार द्वारा चूक हुई है।

उन्होंने कहा कि एक प्रधानमंत्री को सुरक्षा देना प्रदेश की सरकार का ज़िम्मा होता है और यह जिम्मेदारी निभाने में पंजाब सरकार चूक गयी है। अब चन्नी मुख्यमंत्री के रूप में अपनी नाकामी को छुपाने की कोशिश कर रहे है।

उन्होंने कहा की चन्नी और उनके मंत्री देश के गद्दार है और देश के विपरीत काम करने वाले संगठनों के इशारे पर चलते है, इस घटना से स्पष्ठ है कि चन्नी सरकार निकम्मी है और उसे तुरंत प्रभाव से बरखास्त करना चाहिए।

उन्होंने कहा कि मोदी ने 42000 करोड़ के विकास कार्यों का शिलान्यास करना था जो कि पंजाब की जनता के लिए बड़ा काम था।

उन्होंने कहा कि पंजाब में राष्ट्रपति शासन लगना चाहिए।

प्रदर्शन में जिला अध्यक्ष रवि मेहता, प्रदेश सचिव पायल वैद्या, प्रदेश सेह मीडिया प्रभारी कर्ण नंदा, कार्यालय सचिव प्यार सिंह कंवर, मंडल अध्यक्ष राजेश शारदा, दिनेश ठाकुर, जितेंद्र भोटका, महापौर सत्या कौंडल, नगर निगम शिमला के महापौर उपस्थित रहे।

Share:

editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *