एन ए आई ब्यूरो।

ऊना, राज्य स्वास्थ्य समिति (एनएचएम) अनुबंध कर्मचारी संघ ने शुक्रवार को प्रदेश महामंत्री गुलशन शर्मा की अगुवाई में मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ रमन शर्मा को ज्ञापन सौंपा। इस दौरान उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री, स्वास्थ्य मंत्री, मुख्य सचिव, स्वास्थ्य सचिव, हिमाचल प्रदेश सरकार को 5 जनवरी 2022 को यह जानकारी दे दी गईं है कि 26 जनवरी तक यदि स्वास्थ्य समिति (एनएचएम) अनुबंध कर्मचारीयों को रेगुलर पे स्केल की अधिसुचना हिमाचल प्रदेश सरकार की ओर से कर दी जाती है तो स्वास्थ्य विभाग के अंतर्गत नियुक्त समस्त राज्य स्वास्थ्य समिति (एन. एच. एम्. ) के कर्मचारी सरकार का आभार व्यक्त करेंगे उन्होंने कहा की अगर 26 जनवरी तक सरकार के द्वारा हमारी रेगुलर स्केल कि मांग को लेकर कोई भी सकारात्मक निर्णय नहीं लिया जाता है तो 2 फरवरी को पहले से दी गई चेतावनी के अनुसार हम सब कर्मचारी एक दिन के लिए संकेतिक काम छोड़ो हड़ताल करनी पड़ेगी और ‘अब तो आँखें खोलो सरकार” के स्लोगन के साथ आगामी रणनीति तय करेंगे और ये हड़ताल जब तक रेगुलर पे स्केल की मांग नहीं मान ली जाती तब तक जारी रह सकती है जिसकी जिम्मेवारी हिमाचल प्रदेश सरकार की होगी I उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश में स्वास्थ्य विभाग राज्य समिति के अंतर्गत नियुक्त 1700 कर्मचारी, जो की विभिन्न स्वास्थ्य समितियों के अंतर्गत पिछले 23 वर्षों से स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के अंतर्गत अपनी सेवाएं दे रहे हैं, परन्तु हिमाचल प्रदेश सरकार के द्वारा न तो आज दिन तक इन कर्मचारियों का नियमितीकरण किया जा सका व न ही रेगुलर पे स्केल का लाभ इन कर्मचारियों को दिया जा रहा है जबकि अन्य राज्यों हरियाणा, मणिपुर, छत्तीसगढ़, मिजोरम,आन्ध्र प्रदेश ने अपने इन कर्मचारियों को स्थाई निति बना दी हैI उन्होंने चेतावनी दी है यदि अब भी सरकार इस दिशा में कोई कदम नहीं उठाती है तो हम हड़ताल के लिए मजबूर होंगे और जिसके लिए मात्र हिमाचल प्रदेश सरकार ही जिम्मेवार होगी।

Share:

editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *