एन ए आई,ब्यूरो।

ऊना, हाइड्रोपोनिक तकनीक से खेती करने के क्षेत्र में कई क्रांतिकारी प्रयोगों का इस्तेमाल किया जा रहा है। हाइड्रोपोनिक तकनीक में नया आयाम स्थापित करते हुए जिला के विकासशील किसान युसूफ खान ने खेती कारोबार को एक नई दिशा देने का काम किया है। हाल ही में यूसुफ खान द्वारा हाइड्रोपोनिक तकनीक से स्ट्रॉबेरी के उत्पादन का सफल कमर्शियल परीक्षण करते हुए किसानों को नई राह दिखाने का काम किया है।

जिला के अग्रणी किसान युसूफ खान के फार्म का निरीक्षण करने पहुंचे डीसी राघव शर्मा ने हाइड्रोपोनिक तकनीक से उगाई जा रही स्ट्रॉबेरी का निरीक्षण किया और इस तकनीक से की जा रही खेती की जमकर सराहना भी की। उन्होंने कहा कि कृषि कारोबार में प्रोग्रेसिव प्रयोग किए जाने चाहिए। उन्होंने कहा कि हाइड्रोपोनिक तकनीक से स्ट्रॉबेरी जैसी खेती करना अपने आप में एक बड़ा आयाम है। उन्होंने कहा कि इस खेती के लिए परंपरागत तकनीक से हटकर हाइड्रोपोनिक तकनीक काफी कारगर साबित हुई है। इसमें पैदावार अच्छी होने के साथ-साथ फसल के खराब होने का भी भय नहीं है। आने वाले समय में हाइड्रोपोनिक तकनीक का प्रचार और प्रसार करते हुए किसानों को लाभ पहुंचाने की दिशा में कदम बढ़ाने के लिए सरकार से भी बात की जाएगी। उन्हें कहा कि खेती के लिए जमीन कम होती जा रही है लेकिन वर्टिकल खेती करते हुए आने वाले समय में किसान इसे परंपरागत तरीकों से हटकर भी प्रमुख व्यवसाय के रूप में अपना सकेंगे।

ऊना के प्रगतिशील किसान युसूफ खान ने स्ट्रॉबेरी की पैदावार के लिए एक नया प्रयोग कर सबको हैरत में डाल दिया है। युसूफ ने हाइड्रोपोनिक तकनीक में नए प्रकार का प्रयोग हुए अब स्टैग्नेटिड वाटर में स्ट्रॉबेरी कल्टीवेशन का सफल परीक्षण किया है। युसूफ खान ने बताया कि डीसी राघव शर्मा इससे पहले भी विभिन्न तकनीकों से की जा रही खेती को लेकर फार्म में रुचि दिखा चुके हैं। वही स्ट्रॉबेरी को लेकर उपायुक्त खासे उत्साहित रहे हैं, डीसी राघव शर्मा इस तकनीक को स्ट्रॉबेरी उत्पादन के लिए आगे प्रमोट करने पर विचार कर रहे हैं। युसूफ ने बताया कि डीसी राघव शर्मा का फोकस इस तरफ भी ज्यादा है कि जब ऊना हाइड्रोपोनिक तकनीक से उत्पादन हो रहा है तो बाकी लोग क्यों नहीं कर पा रहे। इस तकनीक को कृषि बागवानी विभाग के साथ मिलकर प्रमोट करते हुए किसानों और बागवानी को आने वाले समय में लाभ देने का प्रयास किया जाएगा।

Share:

editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *