एन ए आई ब्यूरो।

भारत को साउथ अफ्रीका ने केप टाउन में खेले गए तीसरे टेस्ट मैच में 7 विकेट से मात देकर सीरीज 2-1 से अपने नाम कर ली है।तीसरे और निर्णायक मैच के दौरान हाई वोल्टेड ड्रामा उस वक्त देखने को मिला जब थर्ड अंपायर ने साउथ अफ्रीकी कप्तान डीन एल्गर को नॉट आउट करार दिया जिसके बाद भारतीय कप्तान विराट कोहली बुरी तरह भड़क गए। साउथ अफ्रीका की दूसरी पारी के 21वें ओवर में रविचंद्रन अश्विन की गेंद पर अंपायर ने डीन एल्गर को आउट दिया।लेकिन विपक्षी टीम के बल्लेबाज ने डीआरएस ले लिया और थर्ड अंपायर ने उन्हें नॉट आउट दे दिया।रीप्ले में साफ दिख रहा था कि इम्पैक्ट और पिचिंग इन लाइन दी, लेकिन हॉकआई के मुताबिक बॉल स्टंप्स पर नहीं लग रही थी।जिसके बाद एल्गर को नॉट आउट करार दिया गया।इससे भारतीय खेमा नाराज हो गया और कप्तान कोहली,उपकप्तान केएल राहुल तथा सीनियर आफ स्पिनर आर अश्विन ने दक्षिण अफ्रीकी प्रसारक सुपर स्पोटर्स को स्टम्प माइक पर तंज कसे। दक्षिण अफ्रीका के कप्तान डीन एल्गर के मुताबिक डीआरएस विवाद से साउथ अफ्रीकी टीम को फायदा मिला है।डीन एल्गर ने कहा कि उन्हें भारत के खिलाफ निर्णायक तीसरे टेस्ट में लक्ष्य तक पहुंचने का समय मिल गया क्योंकि टीम इंडिया का ध्यान भटक गया था। टीम इंडिया के पूर्व कोच शास्त्री ने कहा कीगन पीटरसन गुंडप्पा विश्वनाथ की याद दिलाते हैं।एल्गर ने कहा, इससे हमें समय मिल गया और हमने तेजी से रन बनाये। इससे लक्ष्य तक पहुंचने में मदद मिली। इससे हमें फायदा हुआ।उस समय वे मैच के बारे में भूल ही गए थे और जज्बाती हो गए थे।मुझे इसमें काफी मजा आया। शायद वे दबाव में थे और हालात उनके अनुकूल नहीं थे जबकि उन्हें इसकी आदत नहीं है।डीन एल्गर ने आगे कहा, हम बहुत खुश थे लेकिन तीसरे और चौथे दिन अच्छी बल्लेबाजी करनी थी क्योंकि पिच से गेंदबाजों को मदद मिल रही थी।हमें अतिरिक्त अनुशासन के साथ अपने बेसिक्स पर अडिग रहकर खेलना था।

Share:

editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *