एन ए आई, ब्यूरो।

कांगड़ा, माता बज्रेश्वरी देवी मंदिर कांगड़ा में दर्शन करने आए बुजुर्ग श्रद्धालु को पुजारी द्वारा प्रसाद देने के बजाय जख्म दिए गए, जिसने उन्हें अस्पताल का रास्ता दिखा दिया। मामला सोमवार सुबह का है। शहर के 79 वर्षीय बुुजुर्ग विजय कुमार महाजन मां के दर्शनों के लिए गए थे। वे मां के गर्भगृह में पहुंचे तो वहां पर दो पुजारी वर्ग आपस में बहसबाजी कर रहे थे, जिस पर उन्होंने कहा कि माता के दरबार में शांत रहें। इस पर एक पुजारी आगबबूला हो गया और बुजुर्ग को धक्का देकर गर्भ गृह से बाहर करने की कोशिश की, जिससे बुजुर्ग मंदिर के गर्भ गृह के साथ लगी रेलिंग से टकरा गए और घायल हो गए। मुख्य गर्भ गृह में तैनात सुरक्षा कर्मचारी भी इस हमले को रोक नहीं पाए। पुलिस ने इस सिलसिले में भारतीय दंड संहिता की धारा-323 के तहत मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है। पुलिस ने वहां तैनात होमगार्ड जवानों को भी तलब किया है।

साथ ही सीसीटीवी कैमरे भी खंगाले जा रहे हैं। पुलिस थाना प्रभारी विजय कुमार ने बताया कि दो पुजारी मंदिर के गर्भ गृह में आपस में उलझ रहे थे, तो बुजुर्ग ने मंदिर में बहस न करने की बात कही तो पुजारी ने उन्हें धक्का दे दिया। रेलिंग से टकराने से उनकी आंख व सिर पर चोट आई है। पुलिस बुजुर्ग का मेडिकल व एक्स-रे करवा रही है। मारपीट के इस मामले से खूब फजीहत हो रही है कोई भी पुजारी वर्ग इस मसले पर टिप्पणी करने से कन्नी काट रहे हैं। लोगों का कहना है कि मंदिर बाजार व मंदिर के भीतर मां के भक्तों के साथ मारपीट करने वाले व्यक्ति अपना रवैया सुधारें । पुलिस थाना प्रभारी विजय कुमार ने आश्वस्त किया है कि कथित आरोपी के खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई की जाएगी। मंदिर अधिकारी सुरेश शर्मा का कहना है कि इस मसले पर रिपोर्ट एसडीएम कांगड़ा को सौंपी जा रही है । उन्होंने बताया कि पुजारी वर्ग आपस में उलझ रहे थे और गुस्से में बुजुर्ग को धक्का दे दिया।

Share:

editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *