एन ए आई ब्यूरो।

एशियन हॉकी चैंपियंस ट्रॉफी में बुधवार यानी आज भारत और पाकिस्तान के बीच हाईवोल्टेज मैच खेला जाएगा। दोनों टीमें कांस्य पदक के लिए आमने-सामने होंगी। सेमीफाइनल में पाकिस्तान को दक्षिण कोरिया और भारत को जापान के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा था। इस बार भारत-पाकिस्तान की टीमें टूर्नामेंट में दूसरी बार आमने-सामने होंगी। इससे पहले 17 दिसंबर को खेले गए मैच में टीम इंडिया 3-1 से जीती थी।

दोनों टीमें पहली बार कांस्य पदक मैच के लिए आमने-सामने होंगी। इससे पहले टूर्नामेंट के इतिहास में चार बार नॉकआउट मुकाबलों में भारत और पाकिस्तान की टीमों के बीच भिड़ंत हुई है, लेकिन सभी मैच फाइनल थे। 2011 में भारत ने पाकिस्तान को पेनल्टी शूटआउट में 4-2 से हराया था। 2012 में पाकिस्तान ने भारत को 5-4 से हराया था। 2016 में भारत ने पाकिस्तान को 3-2 से रौंदा था। 2018 में दोनों टीमों को संयुक्त विजेता घोषित किया था।

दोनों टीमों के बीच खेले गए अब तक के मुकाबलों की बात करें तो पाकिस्तान का पलड़ा भारत पर भारी रहा है। उसने अब तक खेले गए 176 मैचों में से 82 अपने नाम किए हैं। भारतीय टीम 63 मैच जीतने में सफल रही है। 31 मुकाबले ड्रॉ पर छूटे हैं। गोल के मामले में भी पाकिस्तान की टीम आगे है। उसने 396 गोल दागे हैं। वहीं, टीम इंडिया 358 गोल करने में सफल हुई है।

ओवरऑल रिकॉर्ड को छोड़कर सिर्फ एशियन हॉकी चैंपियंस ट्रॉफी की बात करें तो भारत का पलड़ा पाकिस्तानी टीम पर भारी रहा है। 2011 से शुरू हुए इस टूर्नामेंट में दोनों टीमें नौ बार आमने-सामने हुई हैं। भारत को पांच में जीत मिली है। पाकिस्तान सिर्फ दो मुकाबलों में जीत हासिल कर सका है। दो मैच ड्रॉ रहे हैं। गोल में भी भारत हावी रहा है। उसने 24 गोल दागे हैं। पाकिस्तान 19 गोल ही कर सका है।

ओलंपिक खेलों में 41 साल बाद पदक जीतने वाली टीम इंडिया टूर्नामेंट जीतने के दावेदार के तौर पर उतरी थी। सेमीफाइनल में जापान के खिलाफ हार मिलने से पहले वह पॉइंट टेबल में पहले स्थान पर थी। जापान ने उसे 5-3 से हराया। इससे पहले भारतीय टीम ने ग्रुप दौर में जापान को 6-0 से रौंदा था। उसने चार में से अपने तीन मैच जीते थे। एक मुकाबला ड्रॉ रहा था।

Share:

editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *