एन ए आई ब्यूरो।

ऊना, नेशनल हेल्थ मिशन के कर्मचारियों ने बुधवार सुबह काम बंद करते हुए पेन डाउन हड़ताल कर डाली। नेशनल हेल्थ मिशन कर्मचारी महासंघ के प्रदेश महामंत्री गुलशन शर्मा की अगुवाई में जिला मुख्यालय के रीजनल अस्पताल में कर्मचारी हड़ताल पर बैठे। इस दौरान कर्मचारियों ने ऐलान किया है कि यदि अब भी सरकार उनकी मांग नहीं मानती है तो यह पेन डाउन हड़ताल ज्यादा दिन तक भी हो सकती है। कर्मचारी महासंघ के प्रदेश महामंत्री गुलशन शर्मा ने कहा कि नेशनल हेल्थ मिशन के कर्मचारियों ने लगातार अधिकारियों और सरकार के नुमाइंदों के सामने अपना पक्ष रखा। कर्मचारियों ने सदैव एक स्थाई पॉलिसी की मांग करते हुए अपना और अपने परिवारों का भविष्य सुरक्षित करने की मांग की। लेकिन किसी भी सरकार ने उनकी इस मांग को तवज्जो देना तो दूर गंभीरता से भी नहीं दिया। उन्होंने कहा कि आज हालत यह है नेशनल हेल्थ मिशन में 23 सालों से सेवाएं दे रहे 1700 कर्मचारी अस्तित्व को बचाए रखने की जंग लड़ रहे हैं। गुलशन शर्मा ने कहा कि प्रदेश सरकार से हाल ही में हुई बातचीत के दौरान मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर द्वारा केंद्र से बजट पारित करवाने का आश्वासन दिया गया था। लेकिन नेशनल हेल्थ मिशन के कर्मचारी किसी बजट की मांग तो कर ही नहीं रहे। कर्मचारियों की मांग सरकार की तरफ से बनने वाली एक स्थाई पॉलिसी है। जिससे समय-समय पर प्रदेश सरकार हर वर्ग के कर्मचारियों के लिए बनाती और लागू करती रहती है। ऐसे में सरकार की क्या मजबूरी है कि केवल और केवल एनएचएम के कर्मचारियों के साथ ही सौतेला व्यवहार किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि यदि अब भी सरकार एनएचएम कर्मचारियों को अनदेखा करती है तो आने वाले समय में स्वास्थ्य विभाग के तहत बहुत सारे प्रोजेक्ट और अन्य सेवाएं प्रभावित होने वाली हैं। जिसकी जिम्मेदारी पूर्ण रूप से स्वास्थ्य विभाग के उच्च अधिकारियों और प्रदेश सरकार की रहेगी।

Share:

editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *