एन ए आई, ब्यूरो।

चंडीगढ़, चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी में छात्राओं के वीडियो वायरल करने के मामले में आरोपी छात्रा और युवक सनी की दोस्ती शिमला के रोहड़ू में हुई थी। लंबे समय से वे फोन से एक दूसरे के संपर्क में थे। पुलिस छानबीन कर रही है कि आखिर सनी को ऐसे वीडियो छात्रा क्यों भेजती थी। दोनों में दोस्ती ही है या छात्रा को युवक ब्लैकमेल तो नहीं कर रहा था। हर पहलू की बारीकी से जांच की जा रही है।

युवक रोहडू में बेकरी की दुकान पर कार्य करता है। पंजाब पुलिस रविवार रात को आरोपी युवक को गिरफ्तार कर अपने साथ ले गई है। आरोपी युवक सनी मेहतो रोहड़ू के खंगटेड़ी गांव का रहने वाला है। युवक का चंडीगढ़ आना-जाना नहीं है। बावजूद इसके युवक का नाम मामले में सामने आया है। आरोप है कि छात्रा ने अपने दोस्त सनी को वीडियो भेजा है।

मामले में पंजाब पुलिस ने रोहड़ू पहुंचकर आरोपी युवक को स्थानीय पुलिस की सहयोग से गिरफ्तार किया है। युवक से पूछताछ के लिए पंजाब पुलिस उसे अपने साथ ले गई है। छात्राओं की वीडियो वायरल होने के मामले में युवक की संलिप्तता का पता पुलिस की छानबीन के बाद ही पता चल पाएगा। डीएसपी रोहड़ू चमन लाल ने बताया कि पंजाब पुलिस ने उन्हें मामले की सूचना मिली थी। इसके बाद युवक को रोहड़ू पुलिस थाने लाया गया है। इसके बाद युवक को पंजाब पुलिस के हवाले कर दिया गया है। मामले में आगामी कार्रवाई पंजाब पुलिस ही करेगी।

वहीं, चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी के वीडियो लीक विवाद में गिरफ्तार तीन आरोपियों को सोमवार को खरड़ कोर्ट में पेश किया गया। जहां से उन्हें सात दिन के रिमांड पर भेज दिया गया। कोर्ट ने कहा कि यह अपनी तरह का अलग मामला है इसलिए इसकी अच्छी तरह जांच होनी चाहिए। मामले में अब तक तीन आरोपी गिरफ्तार किए जा चुके हैं। वीडियो बनाने वाली लड़की और उसका ब्वॉयफ्रेंड, लड़के का एक दोस्त भी गिरफ्तार किया गया है। वहीं, डीजीपी गौरव यादव ने पूरे मामले की जांच के लिए एसआईटी गठित की है। वरिष्ठ पुलिस अधिकारी गुरप्रीत कौर देव के नेतृत्व में तीन महिला अधिकारियों की एसआईटी जांच करेगी।

Share:

editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *