एन ए आई, ब्यूरो।

ऊना, जिला में जल्द ही मानव परिंदे आसमान में उड़ते नजर आने वाले हैं। पैराग्लाइडिंग के प्रथम चरण के ट्रायल सफल रहने के बाद कुछ महीनों के बाद अब दोबारा से डिटेल्ड ट्रायल का अभियान शुरू कर दिया गया है। जिसके लिए पैराग्लाइडिंग के प्रोफेशनल एक्सपर्ट जिला के बंगाणा उपमंडल की ऊंची चोटी घरवासड़ा से उड़ान भर रहे हैं वर्तमान में चल रहे ट्रायल से इस क्षेत्र में हवा का रुख पैराग्लाइडिंग के लिए, बेहतर संभावनाएं और तमाम चीजों को खोजा जा रहा है।

ताकि जल्द ही कमर्शियल तौर पर साहसिक गतिविधियों में पैराग्लाइडिंग को शुरू करते हुए पर्यटकों को बड़ी सुविधा दी जा सके। गौरतलब है कि वर्ष 2021 में घरवासड़ा और इसके साथ सटे क्षेत्र मकरैड में पैराग्लाइडिंग के सफल ट्रायल किए गए थे, हालांकि उसके बाद घरवासड़ा का चयन पैराग्लाइडिंग के टेकऑफ के लिए बेस्ट लोकेशन के तौर पर किया गया था।

 

जिला ऊना के बंगाणा उपमंडल के तहत पड़ते घरवासड़ा में पैराग्लाइडिंग के डिटेल्ड ट्राइल को शुरू कर दिया गया है। जिला में साहसिक खेलों की गतिविधियों को कमर्शियल तौर पर शुरू करने और यहां की बेस्ट लोकेशन से पैराग्लाइडिंग में हवा का रुख और अन्य तमाम संभावनाओं को जांचने परखने के लिए इस अभियान को शुरू किया गया है।

जिला में वर्ष 2021 में इसी उपमंडल के मकरैड और घरवासड़ा में पैराग्लाइडिंग के ट्रायल आयोजित करते हुए एडवेंचर एक्टिविटीज की संभावनाओं को तलाशा गया था। उस ट्रायल के सफल रहने के बाद अब कुछ महीनों के बाद दोबारा से डिटेल्ड ट्राइल को शुरू किया गया है ताकि आने वाले समय में साहसिक गतिविधियों के तहत पैराग्लाइडिंग को कमर्शियल तौर पर यहां शुरू किया जा सके। एडीसी ऊना डॉ. अमित कुमार शर्मा ने कहा कि जल्द ही जिला वासियों के साथ-साथ अन्य पर्यटकों को नजदीकी क्षेत्र में पैराग्लाइडिंग की सुविधा प्राप्त होगी।

डॉ. अमित कुमार शर्मा (एडीसी ऊना)

Share:

editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *